सम्पूर्ण बगडावत कथा 2

गुर्जर आराध्य श्री देवनारायण भगवान गुर्जर जाति पर आधारित

         सम्पूर्ण बगडावत कथा 2

राजस्थान में यह प्रथा है कि सावन के महीने में तीज के दिन कुंवारी कन्याएं झूला झूलने के लिए बाग में जाती हैं

            यही जानकर उस दिन बाघ सिंह और ब्राह्मण भी अपने बाग में झूले डालते हैं बाघ सिंह झूला झूलने के लिए आई हुई कन्याओं से झूलने के लिए एक शर्त रखते हैं कि झूला झूलना है तो मेरे साथ फेरे लेने होंगे लड़कियां पहले तो मना कर देती हैं लेकिन फिर आपस में बातचीत करती हैं?

LINK SHORTEN AND EARN MONEY

Install now!

कि फैरे लेने से कोई इसके साथ शादी थोड़े ही हो जाएगी। कुछ लड़कियां बाघ सिंह के साथ फैरे लेकर झूला झूलने के लिए तैयार हो जाती हैं और कुछ वापस अपने घर लौट जाती हैं बाघ सिंह के साथ जो उसका ब्राह्मण
मित्र लड़कियों के फेरे करवाता है और झूला झूलने की इजाजत देता है उस दिन लड़कियां झूला झूल कर अपने घर वापस आ जाती हैं। जब वह लड़कियां बड़ी होती है तब उनके घर वाले उनकी शादी के सावे (लग्न) कलवाते हैं लेकिन जब उनकी शादी के सावे नहीं मिलते हैं तब घर वालों को चिंता होती हैं कि आखिर इनके सावे क्यों नहीं मिल रहे हैं लड़कियों के माता-पिता राजा बीसलदेव जी के पास जाकर यह बात बताते हैं राजा बीसलदेव जी एक युक्ति निकालते हैं और सब लड़कियों को एक जगह एकत्रित करते हैं और उनके पास पहरे पर एक बूढ़ी बाई को बैठा देते हैं और कहते  है इसे कुछ सुनाई नहीं देता है सारी लड़कियां आपस में खुसर-पुसर करते हैं और कहती हैं कि मैंने कहा था कि बाघ सिंह के  साथ फेरे नहीं लो और तुम नहीं मानी उसी का यह अंजाम है कि आज अपनी शादी नहीं हो पा रही हैं यह बात बूढ़ी औरत सुन लेती हैं और दूसरे दिन राजा बीसलदेव जीको सारी बात बताती हैं फिर राजा बीसलदेव जी बाघ सिंह को बुलाते हैं और उन्हें फटकार लगाते हैं बाग सिंह कहते हैं कि मैं एक बाथ भरूंगा जो लड़कियां मेरी बाथ में आ जाएगी उनसे तो मैं शादी कर लूंगा और बाकी लड़कियों के सावे निकल जाएंगे बाघ सिंह जब बाथ करते हैं उनकी बाहों में 13 लड़कियां समा जाते हैं जिससे बाघ सिंह शादी करने को तैयार हो जाते हैं 12 लड़कियों से स्वयं शादी कर लेते हैं और एक लड़की अपने ब्राह्मण मित्र को जो फेरे करवाता है उसको दे देते हैं

प्रस्तुतकर्ता  हरदेव गुर्जर बागा खेड़ा


दोस्तों मैं यह कथा लिख रहा हूं बगड़ावत 24 भाइयों की इसमें कोई भूल चूक हुई हो तो मुझे बालक समझकर माफ कर देना और ऐसी नई नई कहानियां आप तक पहुंचती रहे उसके लिए साइड में एक घंटी का निशान है उस निशान पर ओके करिए और इस वेबसाइट को सब्सक्राइब कर लीजिए ताकि हम जितने अपडेट करेंगे वह नोटिफिकेशन आप तक पहुंचती रहेगी ओके और भी आपका कोई सवाल हो तो आप नीचे हमारे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं और इसे शेयर जरूर करना दोस्तों
Previous
Next Post »

dowonlod